Loading... सेतुबंध (Setubandh) जगराम सिंह (Jagram Singh) 1111016936224
Currently Updating... Please visit later..

Click to Enlarge

Book Code: 1111016936224

जगराम सिंह (Jagram Singh)

All Prices are including Free shipping via Air-Mail

Pages:
ISBN 13:
ISBN 10:
Your Price:

Year:
Language:
Publisher:
Pages:
Book Category:
Subject:

Untitled Document

पुस्तक के बारे में

मानव-मूल्यों के सोपानों पर पैर रखते हुए पशुत्व से नारायणत्व की महायात्रा पूर्णकर अपने जीवन को सार्थक करता है और भावी पगडंडियों हेतु अमिट पदचिन्ह पथावलोकन हेतु छोड़कर भूत का सुखद आभास कराता है। जिससे हर मानवीय संवेदना आचरण हेतु प्रबल अवलंवन प्राप्त कर सृष्टि में अपने आत्मीय आलिंगन से भोर का द्वार खोलकर सुख, समृद्धि, शांति की सुरसरिता बहाकर जगत कल्याण का मार्ग सुगम कर सके और चतुर्दिक सुसंस्कारों की अभेद दीवार खड़ी कर सूर्य के देदीप्यमान आलोक से प्रकाशित पावन मातृभूमि, शाश्वत धर्म, नित नूतन चिरपुरातन संस्कृति, प्राण स्वरूप हिन्दुत्व, जीवन का सच्चा मीत सदाचार, दिव्य-भव्य-तेजस्वी चरित्र, वसुधैव कुटुंबकम कृण्वन्तो विश्वमार्यम् को सार्थक करने वाली मानवता आदि सभी को हार में मोतियों सा पिरोकर व्यष्टि से परमेष्ठि तक के मार्ग को सुगम करने वाला ऐसा साधन रूप ‘‘सेतुबंध’’ विश्व मंगल कामना का साक्षात्कार बन सके यही मंत्र प्रस्तुत पुष्प के अंतःकरण की प्रेरणा है।

लेखक का परिचय

जीवन परिचय
नामः जगराम सिंह
माता का नामः स्व. श्रीमती गोमती देवी
पिता का नामः स्व. श्री इन्दल सिंह
शिक्षाः स्नातकोत्तर - अंग्रेजी
अध्यापनः 1989 से 1994 तक हायर सेकेण्डरी स्कूल में अंग्रेजी विषय का अध्यापन
कार्यक्षेत्राः 1994 से अब तक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक
साहित्य सेवाः
अंग्रेजी भाषा में पद्य लेखन : Glimpse of Inspiration
अंग्रेजी व्याकरण में: (1) New Flow of Spoken English
(2) New Flow of General English

हिन्दी भाषा में पद्य साहित्यः

(1) काव्यांज्जलि-भोर (2) काव्यांज्जलि-उदय (3) काव्यांज्जलि-किरण (4) काव्यांज्जलि-प्रभात (5) काव्यांज्जलि-तेज

हिन्दी भाषा में गद्य साहित्यः

(1) भारत दर्शन (2) माँ (3) सामाजिक क्रांति के शिल्पी (4) समरसता के भगीरथ
(5) उत्सव हमारे प्राण (6) राष्ट्र के गौरव (7) हमारी प्रार्थना (8) सेतुबंध

विषय-सूची

आभार ......................................................................................... 5

प्रस्तावना ...................................................................................... 7

1. भोर का द्वार........................................................................... 11

2. तीर का चीर ......................................................................... 19

3. क्षितिज के पार...................................................................... 25

4. पूरब का लाल....................................................................... 33

5. सनातन् आर्यावर्त .................................................................... 43

6. सनातन धर्म........................................................................... 77

7. सनातन संस्कृति ................................................................... 111

8. हिन्दुत्व् ............................................................................... 137

9. सदाचार................................................................................161

10. चरित्र ...................................................................................181

11. मानवता...............................................................................207


Downloads | Privacy Policy |Delivery Policy | Terms & Conditions | Refund & Cancellation

Last updated: 15-Oct-2019   Designed by IndiaPRIDE.com