Welcome to gyanbooks.com
Mahashaktidhar Bharat
9788121214063

  
SEND QUERY
 
Author Mr. A.K.Mukhopadhyaya
Year 2018
Binding Hardback
Pages 240
ISBN10, ISBN13 8121214068, 9788121214063
Short Description
The Title 'Mahashaktidhar Bharat written/authored/edited by Mr. A.K.Mukhopadhyaya', published in the year 2018. The ISBN 9788121214063 is assigned to the Hardcover version of this title. This book has total of pp. 240 (Pages). The publisher of this title is Gyan Publishing House. This Book is in English. The subject of this book is Political Science.
List Price: US $14.95
Your PriceUS $13.00
You Save10.00%
Looks for Similar Books by Keywords:
English (language) | 2018 (year) |
Untitled Document

ABOUT THE BOOK

भारत प्राकृतिक संसाधनों की एक महाशक्ति है, जो हमारे स्वदेशी नेताओं के कारण विदेशी ताकतों की कालोनी बनकर रही। भारत का सशक्तिकरण, नौ चप्टर में कई अखंडनीय तथ्य प्रस्तुत किये गये हैं, इसमें समाजवाद के मुखौटे को चीरकर, संपत्तिवाद का कुरूप चेहरा प्रकट किया गया है, जिसमें सिर्फ समाज के उत्कृष्ट भाग को ही फायदा पहुँचाया गया। भारत का सशक्तिकरण में दर्शाया गया है कैसे पिछले एक दशक में सत्ताधारी सरकार ने आर्थिक समृद्धि के अवसरों को नकारा।

किताब में सभी पहलुओ, खण्डो और सरकारी तत्वों को शामिल किया गया है और सभी सबूतों के साथ समझाया गया है उच्च संवैधानिक सरकारों की त्रुटियाँ को और किस तरह देश को नियंत्रित करने के लिए असमर्थ सेना (जिसमें ज्यादातर उपयुक्त संसाधनों का अभाव रहा) यातनाओं का एक यंत्र बनकर रह गयी। हथियारबंद ताकतें, खासतौर पर सामरिक ताकतों, वायु सेना को दरकिनार कर दिया गया, जिसके कारण आम जनता का अनियंत्रित शोषण किया गया। भारत पहले ही बहुत सारा समय गंवा चुका है। इसे अपनी अचेतनता से जागना होगा, और विश्वीय राजनीति पर भी अपनी पकड़ जमानी होगी। इस किताब में सभी परस्पर-विरोधी दावों के विवरण से लोकतंत्र का सही मतलब समझाया गया है, ताकि तर्कहीन जनता के क्रोध की सुनामी से बचा जा सके। इस किताब ने पाठकों को उनकी स्वयं के विवेक और तर्कशक्ति का सामना कराया है।

ABOUT THE AUTHOR

अभियांत्रिकी संस्था और भारतीय वैमानिक शास्त्र समाज का एक सदस्य अमल कुमार मुखोपाध्याय, इशापोर की राइफल फैक्ट्री के एक नौसिखिये से उभरकर एयर मार्शल की प्रतिष्ठित उपाधि तक पहुंचे और फिर वायु मुख्यालय के प्रधान स्टाफ अफसर बने। उनकी 38 साल की वायु सेना में निष्कलंक नौकरी में शामिल है हिमालय की ऊँचाइयों में उनका कार्यकाल। उनकी नियुक्ति नासिक के हिन्दुस्तान एरोनोटिक्स लिमिटेड में भी हुई, और बाद में बंगलोर में, वह हिंदुस्तान एरोनोटिक्स लिमिटेड और भारत इलेक्ट्रोनिक्स लिमिटेड की निदेशकमंडल में भी नियुक्त किये गये।

भारतीय वायु सेना और एयरोस्पेस सुरक्षा क्षेत्र में उनकी कई उपलब्धियों को देखते हुए, उन्हें ‘परम विशिष्ट सेवा पदक’ और ‘एंटी विशिष्ट सेवा पदक’ से भी नवाजा गया और बाद में वह भारत के पूर्व-राष्ट्रपति डाक्टर शंकर दयाल शर्मा के कार्यकाल में सहायक डिप्टी कमिश्नर के माननीय पद पर नियुक्त किये गये।

CONTENTS

अनुक्रमणिका

उपक्रमणिका................................................................ 9

अध्याय-1

भारतीय अर्थव्यवस्था और सेना का तार्किक मूल्यांकन............... 31
• वास्तविक स्थिति • भारत की गरीबी को सुनिश्चित करना • भारत द्वारा ब्रिटेन वुड्स समझौते की मूल धारणाओं के अमरीका द्वारा किए जा रहे उल्लंघन को चुपचाप स्वीकार
करना • भारतीय उद्यमी और प्रत्यक्ष विदेशी निवेश • राजकोषीय घाटा • विनिवेश • कार्य योजना • बैंकिग सुधार • विदेशी मुद्रा का प्रबंधन • प्रत्यक्ष विदेशी निवेश और विदेशों में निवेश • रिजर्व बैंको में सुधार • स्वर्ण जमा योजना।

अध्याय-2

भारत के सन्नद्धिकरण का आर्थिक आधार............................ 61
• दुष्प्रचार और मिथ्या धारणाएँ • भारतीय नेताओं की मानसिकता • गरीबी को सत्वर बनाकर किसानों का दम घोटना • राष्ट्रीय सुरक्षा, गरीबी और झूलते फंदे से जुड़े विषयों के अध्ययन • लाभ द्वारा मांग-आपूर्ति संबंध एवं वितरण शृखला की विकृति • अतिविकसित देशों की दक्षताहीनता • श्रम की अवमानना • परिश्रम करने वालों का
परित्याग • समानता और समता • गिनी सूचकांक विश्लेषण • सामाजिक सुरक्षा • प्राथमिक सामाजिक सुरक्षा व्यवस्था की लागत • आर्थिक प्रबंधन का प्रशासन से पृथ्क्कीकरण • ‘‘प्रचार में अधाए पर भूख के सताए’’ • उदारीकृत व्यवस्था की विकास यात्रा • ‘‘इने गिने अमीर’’ • संवृद्धि के दबाव • ठोस सच्चाईयाँ।

अध्याय-3

बड़े राष्ट्र ही मृदुल महाशक्ति होते हैं ................................ 101
• मुद्रा विनिमय दर और अर्थव्यवस्था • अंतराष्ट्रीय मुद्रा के अधिक भंडार पर आग्रह द्वारा देश अपने निवासियों को गरीबी सुनिश्चित कर देती हैं • क्रयशक्ति तुलय विनिमय दर
• विवकेशील (तर्कसंगत) विदेशी मुद्रा विनिमय दर • विदेशी विनिमय भंडार और प्रत्यक्ष विदेशी निवेश।

अध्याय-4

राष्ट्रीय सुरक्षा का प्रबंधन ........................................... 111
• प्रतिरक्षा निमित आबंटित धन कहाँ जा रहा है? • प्रतिरक्षा व्यय • डालर प्रति सैनिक • सशस्त्र सेनाएँ • कार्गिल (विजय) कारवाई और वायुसेना की अवहेलना • पद की शपथ का उल्लंघन • भारत वियत/रूस संधियां • कार्गिल आप्रेशन के दौरान विभिन्न एजेन्सियों की अकर्मण्यता • राष्ट्रीय सुरक्षा माम लों में सशस्त्र सेनाओं को दरकिनार करना • केन्द्रीय वेतन आयोगों की नौटंकियां • जुलाई, 2007, छठे केन्द्रीय वेतन आयोग से सैन्य सेवाओं के कर्मचारियों के साथ भेदभाव समाप्ति का अनुरोध • छठे वेतन आयागे को प्रेषित सैन्यकर्मियों के हितों की अन देखी और उनके विरू द्ध किए गए भेदभाव से जुड़े तथ्य।

अध्याय-5

आर्थिक एवं प्रतिरक्षा समस्याओं का एकमात्रा समाधान राष्ट्रीय सम्ब द्धिकरण .............................................. 155
• राष्ट्रीय सन्नद्धता (लाभबंदी) • अमरीका और भारतीय वायुसेनाः एक तुलना।

अध्याय-6

भारत के सन्नद्धिकरण के लिए राजनीति ........................ 177
• चार प्रधानमंत्री • प्रवर्तनवादी प्रयास • संक्षोम चिकित्सा की रूप रेखा • समृद्ध भारत निर्माण में बाधक संवैधानिक संरोध • संविधान संशोधन।

अध्याय-7

शांतिपर्व .............................................................. 217
• सुरक्षा के लिए निहितार्थः मानव धर्म के ह्रास का महत्व • केन्द्रभूत/सत्वर सत्य • संवैधानिक बाधाएं • उत्तिष्ठतः जागृतः, प्राप्या वरण निबोधत।

Reviews
No reviews added. Be the first one to add review!
Add Review

Write your review about this book. your review will be published within 24 hrs.

*Review
(Max. 200 characters.)
* Name :
*Country :
*Email :
*Type the Code shown
 
 
www.gyanbooks.com is not be responsible for typing or photographical mistake if any. Prices are subject to change without notice.